Skip to main content

Featured

Uski Masrufiyat Mera Intzaar

सब उसकी., मसरूफियत में शामिल हैं...!! बस एक ., मुझ  बे-ज़रूरी के सिवा.....!! #Uski Masrufiyat 

न माँग कुछ

न माँग कुछ  - Motivational Shayari
न माँग कुछ जमाने से
ये देकर फिर सुनाते हैं..
किया एहसान जो एक बार
वो लाख बार जताते हैं..
है जिनके पास कुछ दौलत
समझते हैं भगवान हैं हम..
ऐ बन्दे तू माँग अपने भगवान से
जहाँ माँगने वो भी जाते है.. 

Comments

  1. देखे दुनिया के सबसे बेहतरीन ब्लॉग में से एक ब्लॉग http://www.guruofmovie.com

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular Posts