Sad Shayari

Dard Bhari Shayari in Hindi
एक जनाज़ा, एक डोली टकरा गऐ,
उसको देखने वाले भी घबरा गऐ,
किसी ने पूछा ये कैसी बिदाई है,
तब उपर से आवाज़ आई,
महबूब की डोली देखने..
यार की मय्यत आई है...




Dard Bhari Shayari in Hindi Language
कैसे जीऊ में लेकर दाग ए बेवफाई।
मेने तो हर लम्हा उनसे वफ़ा ही निभाइ।
जिनके कहने पर वो लगाते है तोहमत।
वो खुद बेवफा है खुदगर्ज हरजाई।



Dard Bhari Shayari in Hindi Font
मेरे ख्वाब पूरे होने से पहले ही वो जगा गया,
दिल तोड़के जो है गया उसे क्या खबर मेरा क्या हुआ,
मैं दर्द की थी चांदनी, वो उदास सा एक चांद था,
जब मैं जमीं पे गिरी वो फलक पे था गिरा हुआ..।।



मोहब्बत का नतीजा,
दुनिया में हमने बुरा देखा,
जिन्हे दावा था वफ़ा का,
उन्हें भी हमने बेवफा देखा.



आँखों मे आ जाते है आँसू,
फिर भी लबो पे हसी रखनी पड़ती है,
ये मोहब्बत भी क्या चीज़ है यारो,
जिस से करते है उसीसे छुपानी पड़ती है…



रोती हुई आँखो मे इंतज़ार होता है,
ना चाहते हुए भी प्यार होता है,
क्यू देखते है हम वो सपने,
जिनके टूटने पर भी उनके,
सच होने का इंतेज़ार होता है..?