Skip to main content

Featured

Uski Masrufiyat Mera Intzaar

सब उसकी., मसरूफियत में शामिल हैं...!! बस एक ., मुझ  बे-ज़रूरी के सिवा.....!! #Uski Masrufiyat 

Pane Ki Talab Hi Kaha

Love Shayari, Ishq  Shayari

पाने की तलब ही कहां है...?
हम तो बस तुझे खोने से डरते है...!

#Love Shayari
#Ishq Shayari

Comments

Post a Comment

Popular Posts