Skip to main content

Featured

Uski Masrufiyat Mera Intzaar

सब उसकी., मसरूफियत में शामिल हैं...!! बस एक ., मुझ  बे-ज़रूरी के सिवा.....!! #Uski Masrufiyat 

Kagaz Ki Nav

Life Shayari, Suvichar , Kagaz Ki Naav Shayari

आख़िर तो डूबना ही था 
काग़ज़ की नाव को
इल्ज़ाम देते रहिए नदी के बहाव को 😌😌

#Life Shayari
#Suvichar 

Comments

Popular Posts