21 August, 2020

कैसी प्रीत - Kaisi preet

ये कैसी है प्रीत कि जिसमें,
 बेबस खुद को मन पाता है...
छुट के हाथों से मन मेर,
 जाकर तुझसे बंध जाता है...!!!

1 comments:

  1. Bahut hi achcha
    ka collection hai ek hi jagah par... Super
    Plzz support me

    www.shayarnama.com

    ReplyDelete