Skip to main content

Featured

तेरे दर पर

तेरे दर तक आ पहुंचे हम….!! अपना पीछा करते-करते….!!

दिखाने को घाव नही - Dikhane ko ghaw nhi

कहने को शब्द नहीं...
लिखने को भाव नहीं,
दर्द तो हो रहा है पर..
दिखाने को घाव नहीं,

Comments

Popular Posts