Skip to main content

Featured

तेरे दर पर

तेरे दर तक आ पहुंचे हम….!! अपना पीछा करते-करते….!!

चाय शायरी - chai shayari

सोच रहा हूं चाय पे किताब लिखूं,
जो नहीं पीते उन्हें खराब लिखूं 

Comments

Popular Posts