Skip to main content

Featured

Uski Masrufiyat Mera Intzaar

सब उसकी., मसरूफियत में शामिल हैं...!! बस एक ., मुझ  बे-ज़रूरी के सिवा.....!! #Uski Masrufiyat 

चाय शायरी - chai shayari

सोच रहा हूं चाय पे किताब लिखूं,
जो नहीं पीते उन्हें खराब लिखूं 

Comments

Popular Posts