Skip to main content

Featured

Uski Masrufiyat Mera Intzaar

सब उसकी., मसरूफियत में शामिल हैं...!! बस एक ., मुझ  बे-ज़रूरी के सिवा.....!! #Uski Masrufiyat 

कफ़न

कफ़न शायरी, मरना और मौत पर शायरी
कफ़न भी क्या चीज़ है !
जिसने बनाया उसने बेच दिया ,
जिसने खरीदा उसने इस्तेमाल ही नही किया !
और जिसने इस्तेमाल किया उसे मालूम ही नहीँ।।

Comments

Popular Posts