कर्ज मेरी चाहत का

Chahat Hindi Shayari

कर्ज मेरी चाहत का ...
कुछ इस कदर अदा कर दो....
मुझ में समा के तुम....
मुझको मुझसे रिहा कर दो...

Comments

Popular Posts