आसमान पे - Kanto Par Shayari

आसमान पे - Kanto Par Shayari

आसमान पे चाँद जल रहा होगा,
किसी का दिल मचल रहा होगा,
उफ़ ये मेरे पैरों में चुभन कैसी है,
जरूर वो काँटों पर चल रहा होगा।

Comments

Popular Posts