11 November, 2018

आसमान पे - Kanto Par Shayari

आसमान पे - Kanto Par Shayari
आसमान पे चाँद जल रहा होगा,
किसी का दिल मचल रहा होगा,
उफ़ ये मेरे पैरों में चुभन कैसी है,
जरूर वो काँटों पर चल रहा होगा।

0 comments

Post a Comment