02 अक्तूबर, 2018

लोगों से मुलाक़ातों

लोगों से मुलाक़ातों - Life Mulakat Lehja Hindi Shayari
मैं लोगों से मुलाक़ातों के लम्हे याद रखता हूँ,
मैं बातें भूल भी जाऊं तो लहजे याद रखता हूँ,
ज़रा सा हट के चलता हूँ ज़माने की रवायत से,
जो सहारा देते हैं वो कंधे हमेशा याद रखता हूँ | 

0 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें