19 July, 2018

शिव शंकर भक्ति शायरी

shiv-meri-kamna-bhakti-shayari
शिव मेरी कामना, शिव हीं मेरा कर्म है,
शिव ही मुझमे कठोर और शिव ही मुझमें मर्म है..
शिव मेरा जीवन और शिव ही मेरे विचार है,
शिव मेरी करुणा, शिव ही तो मेरा प्यार है..
शिव मेरी चेतना, शिव मेरा ध्यान है,
शिव मेरा धैर्य, शिव ही मेरा स्वाभिमान है..!!
ॐ-नमः-शिवाय..!! ॐ-नमः-शिवाय..!!🙏🌿



जय महांकाल
मिलती है तेरी भक्ती
महाकाल बडे जतन के बाद,
पा ही लूँगा तुझे मैं…
श्मशान मे जलने के बाद।
जय महांकाल


हर हर महादेव
सैकड़ो दर्द मंद मिलते है,
काम के लोग चंद मिलते है,
जब मुसीबत आती है,
एक महादेव के सिवाय
सबके दरवाजे बंद मिलते है !!
!!….हर हर महादेव….!!
जय महाकाल



0 comments

Post a Comment