21 July, 2018

लोग जल जाते हैं

ख्वाहिश, मुस्कान, दर्द, जिन्दगी शायरी
लोग जल जाते हैं मेरी मुस्कान पर क्योंकि
मैंने कभी दर्द की नुमाइश नहीं की

जिंदगी से जो मिला कबूल किया
किसी चीज की फरमाइश नहीं की

मुश्किल है समझ पाना मुझे क्योंकि
जीने के अलग है अंदाज मेरे

जब जहां जो मिला अपना लिया
ना मिला उसकी ख्वाहिश नहीं की!!

0 comments

Post a Comment