13 February, 2018

मेरी यादों की सुबह

Hindi Yaad shayari - Meri Yaado Ki Subha
मेरी यादों की सुबह से निखर आये हो अब तुम,
मेरे एहसास की गर्मी से संवर आये हो अब तुम,
जो चाहो भुलाना तुम तब भी होगा न ये मुमकिन,
इश्क की हद से आगे जो गुजर आये हो अब तुम..

0 comments

Post a Comment