01 September, 2017

मुबारक शायरी स्टेट्स - Eid Mubarak Shayari

 मुबारक शायरी स्टेट्स - Eid Mubarak Shayari

ईद मुबारक शायरी संदेश कविता, स्पेशल ईद शायरी हिंदी में पढें


आज ईद आई है सब लोग कहते है,
तुम जो आ जाओ तो मुझे यकीन हो जाये…!!!
– ईद मुबारक

ऐ रूठे हुवे दोस्त मुझे इतना बता दे,
क्या मुझ से गले मिलने का अब मन नहीं होता,
बच्चों की तरह दौड़ के आ सीने से लग जा,
ये ईद का दिन है कोई दुश्मन नहीं होता.


तेरे कहने पे लगायी है यह मेहँदी मैंने,
ईद पर अब न तू आया तो क़यामत होगी.

चुपके से चाँद की रौशनी छु जाये आपको,
धीरे से ये हवा कुछ कह जाये आपको,
दिल से जो चाहते हो मांग लो खुदा से,
हम दुआ करते है मिल जाये वो आपको…
ईद मुबारक 2017!


खुदा से यही दुआ है हमारी आप
सदा हंसते रहो जैसे हंसते हैं फूल
दुनिया के सारे गम तुम्हें जाएं भूल
चारो तरफ फैलाओं खुशियों के गीत
इसी उम्मीद के साथ यार तुम्हे मुबारक हो रमजान…
रहमतों की बारिश का महीना है दोस्तों,
ए मेरे मुल्क़ तुझको हो रमज़ान मुबारक़...


आज के दिन क्या घटा छायी है,
चारो और खुशियों की फ़िज़ा छायी है,
हर कोई कर रहा है सजदा खुदा को,
तुम भी कर लो बंदगी आज ईद आई है…
ईद मुबारक 2017!


किसी का ईमान कभी रोशन न होता,
आगोश में मुसलमान के अगर क़ुरान न होता,
दुनिया न समझ पाती कभी भूक और प्यास की कीमत,
अगर १२ महीनों मे १ रमजान न होता…
रमजान मुबारक!

रात को नया चाँद मुबारक,
चाँद को चाँदनी मुबारक,
फलक को सितारे मुबारक,
सितारों को बुलन्दी मुबारक,


ए चाँद, तू उनको मेरा पैगाम कह देना,
ख़ुशी का दिन और हँसी की शाम देना,
जब वो देखे तुझे बाहर आकर,
उनको मेरी तरफ से ईद मुबारक 2017 कह देना…


कोई इतना चाहे तुम्हे तो बताना,
कोई तुम्हारी फिकर करे तो बताना,
ईद मुबारक हो हर कोई कह लेगा,
कोई हमारे अंदाज मे कहे तो बताना

रमजान में ना मिल सके,
ईद में नज़रें ही मिला लूं,
हाथ मिलाने से क्या होगा,
सीधा गले से लगा लूं.

चुपके से चाँद की रौशनी छू जाये आपको;
धीरे से ये हवा कुछ कह जाये आपको;
दिल से जो चाहते हो मांग लो खुदा से;
हम दुआ करते हैं वो मिल जाये आपको।

सदा हसते रहो जैसे हसते है फुल,
दुनिया के सारे गम तुम जाओ भुल,
चारो तरफ फैलाओ खुशियों का गीत,
इसी उम्मीद के साथ आपको मुबारक हो ईद 2017

दिए जलते और जगमगाते रहें;
हम आपको इसी तरह याद आते रहें;
जब तक जिंदगी है ये दुआ है हमारी;
आप ईद के चाँद की तरह जगमगाते रहें।

सूरज की किरणें तारों की बहार;
चाँद की चाँदनी अपनों का प्यार;
हर घड़ी हो ख़ुशहाल;
उसी तरह मुबारक हो आपको ईद का त्योंहार।

बादल से बादल मिलते है
तो बारीश होती है..
दोस्त से दोस्त मिलते है,
तो ईद होती है…
ईद मुबारक दोस्त!

ईद लेकर आती है ढेर सारी खुशियां;
ईद मिटा देती है इंसान में दूरियां;
ईद है ख़ुदा का एक नायाब तबारक;
और हम भी कहते हैं आपको "ईद मुबारक"

हम आप की याद मे उदास हैं,
बस आप से मिलने की आस है,
चाहे दोस्त कितने ही क्यों ना हो,
मेरे लिए तो आप ही सब से खास हैं…
ईद मुबारक दोस्त!

चाँद से रोशन हो रमजान तुम्हारा,
इबादत से भरा हो रोज़ा तुम्हारा,
हर रोज़ा और नमाज़ कबूल हो तुम्हारी,
यही अल्लाह से है, दुआ हमारी.

ज़िन्दगी का हर पल खुशियों से कम ना हो,
आपका हर दिन ईद के दिन से कम ना हो,
ऐसा ईद का दिन आप को हमेशा नसीब हो,
जिसमे कोई दुःख कोई गम पास ना हो…
ईद मुबारक 2017!

रात को नया चाँद मुबारक,
चाँद को चाँदनी मुबारक,
फलक को सितारे मुबारक,
सितारों को बुलन्दी मुबारक,
और आपको हमारी तरफ से ईद मुबारक

0 comments

Post a Comment