13 अगस्त, 2017

मोहब्बत की हद्द

मोहब्बत की हद्द है
मोहब्बत की हद्द है सितारों से आगे,
प्यार का जहाँ है बहारों से आगे,
वो दीवानों की कश्ती जब बहने लगी,
तो बहते बह गई किनारों से आगे।

0 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें