23 June, 2017

परखो मत - Life Shayari

परखो मत - Life Shayari

क्या ख़ूब लिखा है...


"परखो तो कोई अपना नही
समझो तो कोई पराया नहीं"

"चेहरे की हंसी से गम को भुला दो
    कम बोलो पर सब कुछ बता दो
   ख़ुद ना रूठो पर सबको हंसा दो
      यही राज है जिन्दगी का
  जियो और जीना सिखा दो"

0 comments

Post a Comment