13 April, 2017

जो इस दुनियाँ में - Hindi Shayari on Khwab

Khwabo Ki Duniya Ka Sach with Hindi Shayari
जो इस दुनियाँ में नहीं मिलते ,
वो फिर किस दुनियाँ में मिलेंगे जनाब..
बस यही सोचकर रब ने एक दुनियाँ बनायी ,
..... जिसे कहते हैं ख्वाब।

1 comments: