01 December, 2016

कितनों ने ही खरीदा - Notebandi Ka Hum Par Asar

कितनों ने ही खरीदा - Notebandi Ka Hum Par Asar
कितनों ने ही खरीदा सोना,
  मैने एक 'सुई' खरीद ली,
सपनों को बुन सकूं जितनी,
  उतनी 'डोरी' खरीद ली।
सब ने जरूरतों से ज्यादा
  बदले नोट,
मैंने तो बस अपनी ख्वाहिशे
  बदल ली'
'शौक- ए- जिन्दगी'
  कुछ कम कर लिए,
फिर बगैर पैसों  में ही
'  सुकून-ए-जिन्दगी' खरीद ली...

1 comments:

  1. Very nice sms if you want earn $20 money within 1 hours then use this link

    http://viid.me/qwMRjB
    http://join-shortest.com/ref/c0d9876ed7

    ReplyDelete