08 September, 2016

पास बैठो जरा.. - Payar Bhari Hindi Shayari in Love

पास बैठो जरा.. - Payar Bhari Hindi Shayari in Love
पास बैठो जरा प्यारी सी कोई बात करूं...
  मिट जायें दूरियां ऐसी एक मुलाकात करूं...
सजा दूं मैं सेज अपने गुल-ए-ख्वाहिश से...
  दुल्हन बनाकर, अरमान तुझे सौगात करूं...
होश में ना रहूं तुझे बहां में लेकर....
  सनम इस कदर बेकाबू अपने जज्बात करूं....
तेरे लबों को सजा दूं मैं अपने लबों से...
  तेरी जल्फों तले बसर मैं अपनी रात करूं....
"तू" तू ना रहे और "मैं" मैं ना रहूं...
  हम बनजायें हम इतने दिलफरेब हालत करूं....

1 comments:

  1. पलकं झपकने से सपने बदल जाते है,
    साथ ना दो तो अपने बदल जाते है,
    ज़िन्दगी का दस्तूर है दोस्तों,
    जिसे हम रूहं से चाहते है, वही इन्सान बदल जाते है।

    ReplyDelete