08 July, 2016

वो क्या थे - Bewafai Shayari

वो क्या थे - Bewafai Hindi Shayari
वो क्या थे और हम क्या समझ बैठे,
पत्थर के बुत को इंसा समझ बैठे,
उन्हें तो खेलना था दिल से चंद रोज,
और हम उम्र भर का रिश्ता समझ बैठे..

0 comments

Post a Comment