22 June, 2016

मेरी तन्हाई से - Yaadon Ki Shayari

मेरी तन्हाई से - Yaadon Ki Shayari in Hindi
मेरी तन्हाई से अपनी यादं समेट कर ले जाओ,
ये काग़ज कलम ये ज़ज्बात समेट कर ले जाओ,
तुमहारा अब कोई नया बहाना मे नही सुनना चाहती,
पहले के वादो की किताब समेट कर ले जाओ..!!

1 comments: