02 जून, 2016

चोट दिल पे - Bewafai Shayari

Bewafai - Hindi Shayari
मत रख हमसे वफा की उम्मीद,
हमने हर दम बेवफाई पायी है,
मत ढूंढ हमारे जिस्म पे जख्म के निशान,
हमने हर चोट दिल पे खायी है।।

0 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें