30 May, 2016

होंठ - Intezaar Wali Hindi Shayari

होंठ - Intezaar Wali Hindi Shayari
होंठ कह नहीं सकते जो फ़साना दिल का,
शायद नज़रों से वो बात हो जाए,
इस उम्मीद से करते हैं इंतज़ार रात का,
कि शायद सपनों में ही मुलाक़ात हो जाए !