31 May, 2016

दिल की बातें दो-लाईनों में (Shayari + Quotes)


दिल की बातें दो-लाईनों में - Hindi Two-Lines Shayari+Quotes
“हमारी गिनती भी बादशाहों मे होती, अगर दोस्ती की क़ीमत लगाइ जाती.”
“गुजर जायेगा ये दौर भी जरा सा इतमिनान तो रख, जब खुशियाँ ही नहीं ठहरी तो गम कि क्या औकात है.”
“टूट गए तो गीदड़ भी सताएगा, और जुड़ गए तो शेर भी गभरायेगा.”
“जो बुरे वक्त मे मेरे साथ है. मेरा वादा है उनसे, मेरा अच्छा वक्त सिर्फ उनके लिए ही होगा.”
“दिल मे बने रहना ही सच्ची शोहरत है, वरना मशहूर तो कत्ल करके भी हुआ जा सकता है.”
“अपनी औकात मे रहकर बात कर पगली, जितने लड़के तेरी “Friend List” मे है, उस से ज़्यादा लड़किया तो मेरी “Block List” मे हैं.”
“फुर्सत मिले तो उन का हाल भी पूछ लिया करो, जिन के सीने में दिल की जगह तुम धड़कते हों.”
“कौन है इस जहाँ मे जिसे धोखा नहीं मिला, शायद वही है ईमानदार जिसे मौक़ा नहीं मिला.”
“किसी ने रोज़ा रखा और किसी ने उपवास रखा, हमने वो पुण्य नहीं कमाये, बस माँ बाप को अपने पास रखा.”
“किसीके अच्छाई का इतना भी फायदा मत उठाओ, की वो बुरा बनने के लिये मजबुर बन जाये.”
“मैं अपनी ‘ज़िंदगी’ मे हर किसी को ‘अहमियत’ देता हूँ, क्योंकि जो ‘अच्छे’ होंगे वो ‘साथ’ देंगे और जो ‘बुरे’ होंगे वो ‘सबक’ देंगे”
“यु तो जिदगी कही भी गुझार सकता हु, लेकीन बगैर तुम्हारे नही गुझरती.”
“किसी के होने या ना होने से जिदगी रुकती नही, लेकीन सिफॅ साँस लेना तो जिदगी नहि है.”
“कौन कहता है कि मुसाफ़िर जख्मी नहीं होते, रास्ते गवाह हैं पर कमबख्त गवाही नहीं देते.”
“वक्त के हाथो मे सबकी तकदीरे है, आइना जुठा है सच्ची तसवीरे है.”
“मैं कैसा हूँ ‘ ये कोई नहीं जानता, मैं कैसा नहीं हूँ, ये तो मेरे शहर का हर शख्स बता सकता है.”
“नफरतो के शहर मे हमने आशियाना बसाना चाहा, लोगो ने पागल समझ कर पत्थर मारने शुरू कर दिये.”
“वक़्त बदल जाता है इंसान बदल जाते है, वक़्त वक़्त पे रिश्तो के अंदाज बदल जाते है.”
“वो समजते है उन्होने हमारा दिल तोड़ दिया, वो नहीं जानते वही दर्द बयाँ कर के हमने यहाँ हजारों के दिलो को जीत लिया.”
“हऱ किताब के किस्मत मैं लाइब्रेरी नही होती, कुछ कबाडी की दुकान मैं भी मिलती है.”
“पेहली बार जिंदगी को दाव पे लगा कर जुआ खैला है, मेरा ‪#‎SixthSense‬ मुजे घोखा नही दे सकता.”
“मै अपनी ‘तारीफ’ खुद ही करता हू, क्यूंकि मेरी ‘बुराई’ करने के लिए तो पूरा ज़माना तैयार बैठा है.”

0 comments

Post a Comment