12 March, 2016

तेरी चुप्पी - Love Shayari

तेरी चुप्पी का सबब हम जानते है ।
महकते होंठों की शिकायत हम जानते है ।
मेरी हिचकी भी दे रही है गवाही मुहब्बत की,
तेरे पलकों की हरकत भी हम जानते है ।

0 comments

Post a Comment