04 March, 2016

Shayari on "Gulaab"

"गुलाब"
अगर हाथ में थाम लो तो यार हैं।
बालों में लगा लो तो प्यार है।
सिर पर सजालो तो शान है।
चरणों मे चढाओ तो ज्ञान है।
और शरीर पर चढें तो समझो..
जिन्दगी को आखिरी सलाम है ।।

0 comments

Post a Comment