09 March, 2016

किस हद तक - Life Shayari

किस हद तक जाना है ये कौन जानता है,
किस मंजिल को पाना है ये कौन जानता है,
जिन्दगी के दो पल हैं, जी भर के जी लो,
किस रोज़ बिछड जाना है ये कौन जानता है।।