29 February, 2016

Happy Garmi (Summer) Hindi Shayari

कमबल और रजाई को अब कर दो माफ,
कूलर और ए.सी.को अब कर लो साफ,
पसीना छूटेगा अब दिन और रात,
दोनों वक्त नहाने से ही अब बनेगी बात,
अपनी Nature में भी रखना नरमी,
मेरी तरफ से आप सभी  को  Happy गर्मी..

0 comments

Post a Comment