Skip to main content

Featured

Uski Masrufiyat Mera Intzaar

सब उसकी., मसरूफियत में शामिल हैं...!! बस एक ., मुझ  बे-ज़रूरी के सिवा.....!! #Uski Masrufiyat 

Na Socha Na Samjha

Na Socha Na Samjha - Hindi Shayari
न सोचा न समझा न सीखा न जाना,
मुझे आ गया ख़ुदबख़ुद दिल लगाना..!!
ज़रा देख कर अपना जल्वा दिखाना,
सिमट कर यहीं आ न जाये ज़माना..!!
ज़ुबाँ पर लगी हैं वफ़ाओं कि मुहरें,
ख़मोशी मेरी कह रही है फ़साना..!!
गुलों तक लगायी तो आसाँ है लेकिन,
है दुशवार काँटों से दामन बचाना..!!

Comments

  1. देखे भारत की हसीनाओ को एक क्लिक पर http://www.guruofmovie.com

    ReplyDelete
  2. awesome blog bhot achhi shayaris hai .
    mere blog par bhi visit kare dost
    http://www.loveshayarihindi.com :)

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular Posts