05 June, 2015

Wo Mohobat Bhi - Sad hindi Shayari

Wo Mohobat Bhi - Sad hindi Shayari
वो मुहब्बत भी उसकी थी वो नफरत भी उसकी थी ,
वो अपनाने और ठुकराने की अदा भी उसकी थी !
मैं अपनी वफा का इन्साफ किस से मांगता ,
वो शहर भी उसका था वो अदालत भी उसकी थी !