21 December, 2014

Teri Doli Uthi - Sad Shayari in Love

तेरी डोली उठी, मेरी मैय्‍यत उठी;
फूल तुझ पर भी बरसे, फूल मुझ पर भी बरसे;
फर्क सिर्फ इतना सा था, तू सज गई, मुझे सजाया गया;
तू भी घर को चली, मैं भी घर को चला;
फर्क सिर्फ इतना सा था, तू उठ के गई, मुझे उठाया गया;
महफि‍ल वहां भी थी, लोग यहां भी थे;
फर्क सिर्फ इतना सा था, उनका हंसना वहां, इनका रोना यहां;
काजी उधर भी था, मौलवी इधर भी था;
दो बोल तेरे पढ़े, दो बोल मेरे पढ़े;
तेरा "निकाह" पढ़ा, मेरा "जनाजा" पढ़ा;
फर्क सिर्फ इतना सा था, तूझे अपनाया गया, मुझे दफनाया गया !

1 comments:

  1. आप के ब्लॉग की जितनी भी तारीफ की जाए कम है देखे भारतीय सिनेमा की हर खबर एक क्लिक पर http://www.guruofmovie.com

    ReplyDelete