Skip to main content

Featured

Uski Masrufiyat Mera Intzaar

सब उसकी., मसरूफियत में शामिल हैं...!! बस एक ., मुझ  बे-ज़रूरी के सिवा.....!! #Uski Masrufiyat 

Wo So Jate Hai Aksar - Good Night Shayari for You

वो सो जाते है अकसर हमें याद किए बगैर ।
हमें नींद नहीं आती उनसे बात किए बगैर ।
कसूर उनका नहीं कसूर तो हमारा है ।
क्योंकि उन्हें चाहा भी तो उनकी ईजाजत लिए बगैर ।

Comments

Post a Comment

Popular Posts