Skip to main content

Featured

Uski Masrufiyat Mera Intzaar

सब उसकी., मसरूफियत में शामिल हैं...!! बस एक ., मुझ  बे-ज़रूरी के सिवा.....!! #Uski Masrufiyat 

Taras Gaye Aapke Didar Ko - Hindi Shayari for You

तरस गए आपके दिदार को ।
फिर भी दिल आप ही को याद करता है ।
हमसे खुश नसिब तो आपके घर का आईना है ।
जो हर रोज आपके हुस्न का दिदार करता है ।

Comments

Popular Posts