07 October, 2014

Taraste The Jo Hamse Milne Ko - Sad Shayari

तरसते थे जो हमसे मिलने को कभी,
ना जाने क्युँ आज मेरे साऐ से भी वो कतराते है,
हम भी वो ही है और दिल भी वही है,
ना जाने क्युँ लोग बदल जाते है...



Taraste The Jo Hamse Milne Ko Kabhi
Na Jaane Kiyun Aaj Mere...
.. Saaye Se Bhi Woh Katrate Hain
Hum Bhi Wohi Hain Aur Dil Bhi Wohi Hai
Na Jaane Kiyun Log Badal Jaate Hain…..

1 comments:

  1. देखे दुनिया के सबसे बेहतरीन ब्लॉग में से एक ब्लॉग http://www.guruofmovie.com

    ReplyDelete