28 October, 2014

Sanso Ki Har Sargm Mein - Love Shayari

सांन्सो की हर सरगम मे तूम सूर बनकर बस गये..।
दील की हर धडकन मे तूम ऐक गूंन्ज बनकर बस गये.।
समज ना शके तूम न समज शके कूछ हम भी,
दील मे तो बसे ही थे रूह मे भी मेरी तूम बस गये.।।

1 comments:

  1. आप के ब्लॉग की जितनी भी तारीफ की जाए कम है देखे भारतीय सिनेमा की हर खबर एक क्लिक पर http://www.guruofmovie.com

    ReplyDelete