Skip to main content

Featured

Uski Masrufiyat Mera Intzaar

सब उसकी., मसरूफियत में शामिल हैं...!! बस एक ., मुझ  बे-ज़रूरी के सिवा.....!! #Uski Masrufiyat 

Nafrat Ko Hum - Dosti Shayari

नफरत को हम प्यार देते है .....
प्यार पे खुशियाँ वार देते है ...
बहुत सोच समझकर हमसे कोई वादा करना..
" ऐ दोस्त " हम वादे पर जिदंगी गुजार देते है...

Comments

  1. देखे भारत की हसीनाओ को एक क्लिक पर http://www.guruofmovie.com

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular Posts