01 August, 2014

Kabhi Nazre Milane - Zindagi Ki Sachai

कभी नजरे मिलाने में जमाने बीत जाते है;
कभी नजरे चुराने में जमाने बीत जाते है;
किसी ने आँखे भी खोली तो सोने की नगरी में;
और.....
किसी को घर बनाने में जमाने बीत जाते है;