05 June, 2014

Na Ghatne Ka Dar - Zindagi Zee Lo

ना घटने का डर, ना लुटने का डर,
न जरूरत वारिस की न तालों की,
नींद आती है, सुकून की हर रोज,
यही दौलत है, बिन दौलत वालों की…