31 May, 2014

Wo Apne Mehndi Wale Hath

वो अपने मेहंदी वाले हाथ मुझे दिखा कर रोई,
अब मैं हुँ किसी और की, ये मुझे बता कर रोई,
पहले कहती थी कि नहीं जी सकती तेरे बिन,
आज फिर से वो बात दोहरा कर रोई...
कैसे कर लुँ उसकी महोब्बत पे शक यारो...!!
वो भरी महफिल में मुझे गले लगा कर रोई..

3 comments:

  1. देखे दुनिया के सबसे बेहतरीन ब्लॉग में से एक ब्लॉग http://www.guruofmovie.com

    ReplyDelete
  2. वो अपने मेहंदी वाले हाथ मुझे दिखा कर रोई,
    अब मैं हुँ किसी और की, ये मुझे बता कर रोई,
    पहले कहती थी कि नहीं जी सकती तेरे बिन,
    आज फिर से वो बात दोहरा कर रोई...
    कैसे कर लुँ उसकी महोब्बत पे शक यारो...!!
    वो भरी महफिल में मुझे गले लगा कर रोई..

    Read More At http://www.shayari4u.com/2014/05/wo-apne-mehndi-wale-hath.html#ixzz39nLmuJWm
    Follow us: @shayari4u on Twitter | shayari4u.g on Facebook

    ReplyDelete