31 December, 2013

Naya Saal Hai - New Year Shayari



आरम्भ का अंत हो जाना नया साल है..।
गिनती का नम्बर बदल जाना नया साल है..।
वर्तमान का इतिहास बन जाना नया साल है..।
उदय होते सूरज का ढल जाना नया साल है..।
खिल के फूल का डाल से उतर जाना नया साल है..।
दे के जन्म माँ का आँचल ममता से भर जाना नया साल है..।
एक दर्द भूल कर सुख को पहचान जाना नया साल है..। 



Aarambh Ka Ant Ho Jana Naya Saal Hai … !
Ginti Ka number Badal Jana Naya Saal Hai… !
Vartmaan Ka Etihaas Ban Jana Naya Saal
Hai … !
Udye hote huye Suraj Ka Dhal Jana Naya
Saal Hai … !
Khil Ke Phool Ka Daal Se Utar Jana Naya
Saal Hai … !
De K Janam Maa Ka Aanchal Mamta Se Bhar Jana Naya Saal Hai
Ek Dard Bhool Kar Sukh Ko Pehchan Jana
Naya Saal Hai

3 comments:

  1. saal naya ho ya ho purana aap phoolo ki tarha hamesha muskurana

    ReplyDelete
  2. कौन है वो लड़की जो की शायरी की दीवानी है जाने एक क्लिक पर
    http://guruofmovie.blogspot.in/

    ReplyDelete