Tere Payar Ki Shayari - Na Ye Mehfil




Tere Payar Ki Shayari in Hindi - Na Ye Mehfil (हिन्दी शायरी)
ना ये महफिल अजीब है, ना ये मंजर अजीब है,
जो उसने चलाया वो खंजर अजीब है,
ना डूबने देता है, ना उबरने देता है,
उसकी आँखों का वो समंदर अजीब है...


Na Ye Mehfil Ajeeb Hai,
Na Ye Manjar Ajeeb Hai,
Jo Usne Chalaya Wo Khanjar Ajeeb Hai,
Na Dubne Deta Hai, Na Ubarne Deta Hai,
Uski Ankho Ka Wo Samander Ajeeb Hai..

Comments

  1. देखे दुनिया के सबसे बेहतरीन ब्लॉग में से एक ब्लॉग http://guruofmovie.blogspot.in/

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular Posts