12 February, 2013

Hindi Love Shayari - गुलाब मुहब्बत

Valentine Day Love Shayari
गुलाब मुहब्बत का पैगाम नहीं होता,
चाँद चांदनी का प्यार सरे आम नहीं होता,
प्यार होता है मन की निर्मल भावनाओं से,
वर्ना यूँ ही राधा-कृष्ण का नाम नहीं होता...

2 comments:

  1. देखे दुनिया के सबसे बेहतरीन ब्लॉग में से एक ब्लॉग http://guruofmovie.blogspot.in/

    ReplyDelete
  2. गुलाब की महक भी फीकी लगती है,
    कौन सी खुश्बू मुज़मे बसा गयी हो तुम,
    ज़िंदगी है क्या तेरी चहत के सिवा,
    यह केसा ख्वाब आँखो को दिखा गयी हो तुम…

    ReplyDelete