14 November, 2012

मेरी कारनामा -ए- जिन्दगी - Meri Karnama-e-zindgi


मेरी कारनामा -ए- जिन्दगी,
मेरी हसरतों के सिवाए कुछ नहीं,
ये किआ नहीं,
वो हुआ नहीं,
ये मिला नहीं,

वो रहा नहीं..जितना दिया सरकार ने,
उतनी मेरी औकात नहीं,
यह तो करम है मेरे श्याम का,
वरना मुझमें ऐसी कोई बात नहीं !

जय श्री श्याम...!!!!

जय श्री श्यामा श्याम...राधे राधे जी सभी को......

1 comments:

  1. देखे दुनिया के सबसे बेहतरीन ब्लॉग में से एक ब्लॉग http://guruofmovie.blogspot.in/

    ReplyDelete