28 April, 2012

सपनो से दिल - Sapno se Dil

सपनो से दिल लगाने की आदत नहीं रही,
 हर पल मुस्कुराने की आदत नहीं रही,
ये सोचकर की कोई मनाने नहीं आऐगा,
 अब हमें रूठ जाने की आदत नहीं रही



Sapno se Dil lagane ki Aadat nahi rehi,
 Har pal muskurane ki Aadat nahi rehi,
Yeh sochkar ki koi Manane nahi aaega,
 Ab hume Ruth jane ki Aadat nahi rehi.