05 March, 2012

होली वही - Holi Wahi

होली वही जो स्वाधीनता की आन बन जाये
  होली वही जो गणतंत्रता की शान बन जाये
भरो पिचकारियों में पानी ऐसे तीन रंगों का
  जो कपड़ो पर गिरे तो हिंदुस्तान बन जाये