26 March, 2012

इक तु ही - Eik tu hi

इक तु ही सब से ज्यादा याद आती है,
  इक तेरी दोस्ती ही मेरे दिल को भाती है,
किसी रात सो जाऊँ जो तुझे याद किये बिना,
  कसम से तु ख्वाबों में आ के अपनी याद दिलाती है
Eik tu hi sab se zyada yaad aati hai
  eik teri dosti hi mere dil ko bhaati hai
kisi raat so jaaun jo tujhe yaad kiye bina to
  qasam se tu khwabon me aake apni yaad dilati hai