30 March, 2012

ऐ दोस्त - Aye Dost

ऐ दोस्त तेरी दोस्ती पर नाज़ हैं,
  हर वक्त मिलने की फरीयाद करते हैं,
हमें नहीं पता घर वाले बताते हैं,
  हम निंद में भी आपसे बात करते हैं



Aye dost teri dosti per naaz karte hain
  har waqt milne ki faryad karte hain
humein nahin pata ghar wale bataate hain
 hum neend mein bhi aap se baat karte hain