Skip to main content

Featured

Uski Masrufiyat Mera Intzaar

सब उसकी., मसरूफियत में शामिल हैं...!! बस एक ., मुझ  बे-ज़रूरी के सिवा.....!! #Uski Masrufiyat 

कितना प्यार दिया - Kitna pyar diya

कितना प्यार दिया उसे हमारा ख्याल कुछ भी नही,
इतनी गहरी चाहत का हासिल-ओ-हिसाल कुछ भी नहीँ,
वो हम से खफा थे तो जान निकल गई थी हमारी,
हम उसने खफा हैँ तो उनको मल्लाल कुछ भी नहीं



Kitna pyar diya use hamara khayal kuch b nahin,
Itni gehri chahat ka hasil-o-hisaal kuch b nahin,
woh hum se khafa thy to jaan nikal gayi thi hamari,
Hum unse khafa hain to unko malal kuch b nahi,

Popular Posts