27 June, 2011

खुशी अगर - Khushi agar


खुशी अगर हमसे दामन बचाती है तो बचाऐ,
हमें तो गम ही है रास आऐ...
महोब्बत का ये अजब दस्तुर देखा,
उसी की जीत है... जो हार जाऐ...



` Khushi agar hum se daaman bachati hai to bachaye
Humein to gum hi hain raas aaye
Mohabbat ka yeh ajab dastoor dekha
Ussi ki jeet hai……jo haar jaaye……. ..

0 comments

Post a Comment